FacebookGoogleYoutubeTwitter

By A Web Design

संस्थान का परिचय PDF Print E-mail

यह संस्थान 1970 ई. से इस गोडवाड़ के सर्वेक्षण-शोध कार्य व लेखन कार्य में जुटा हुआ है। सन् 2001 में इस कार्य हेतु आवश्यकता समझ कर इसको श्री गोडवाड़ सांस्कृतिक शोध संस्थान के नाम से कार्यकारिणी समिति गठन कर सन् 2002 में पंजीयन कार्य पूरा करवाया गया। इस कार्य में  गोडवाड़ के अतिविशिष्ट समर्पित भाव से सेवार्थ-कर्मठ कार्यकत्र्ता, विद्वान-श्रेष्ठि, भू.पू. शासक एवं मातृभूमि से उत्कंठित महानुभावों के सौहार्दता को प्रथम स्थान दिया गया। गत वर्षों से 2015 तक इस क्षेत्र में श्री गोडवाड़ सांस्कृतिक शोध संस्थान ने अपना धरातल ढूंढ़कर नव कीर्तिमान स्थापित किया है। स्वायत्त संस्था के रूप में शोध, पुरातत्व ऐतिहासिक, सामाजिक, सांस्कृतिक क्षेत्र में 8वीं शताब्दी से 18वीं शताब्दी तक महत्वपूर्ण निर्माण, खोज, शिलालेख, आलेख, पट्टे, परवाने, सिक्कें, चित्र, शिल्प, निर्माण-पृष्ठभूमि आंकलन ऐसे कठिन कार्यों का संग्रह करके आलेख की तैयारी पूर्ण की। विश्वास है कि हम सभी नींव की ईट बनकर इस भूमि पर गोडवाड़ का प्रतीक संस्थान को ऐसा रूप दें जो सहस्त्रों वर्षों तक अपनी गौरवशाली गाथा का साहित्य इतिहास में अपना रंग जमाकर कीर्तिमान पताका फहराएं, आईये इसमें आपका भी सहयोग महत्वपूर्ण है।

 
गोडवाड़ विरासत (सांस्कृतिक, ऐतिहासिक हिन्दी मासिक पत्रिका) एक परिचय PDF Print E-mail

‘गोडवाड़ विरासत’ का प्रकाशन विगत 3 वर्षो से हो रहा है। अब इसे नियमित रूप से मासिक प्रकाशन करते हुए देश के कोने-कोने में बस रहे गोडवाड़-मारवाड़ के महानुभावों तक इस पत्रिका को पहुंचाया जा रहा है। समय की जरूरतों तथा आज की नौजवान पीढ़ी व संरक्षण के प्रति साहित्यिक, ऐतिहासिक, धार्मिक के अनुसार हम पत्रिका को सुपठनीय व लोकोपयोगी बनाने के लिए प्रयासरत है। इसमें आपकी सक्रिय रूप से सहभागिता की विनम्र अपेक्षा है।

गोडवाड़ विरासत केवल पत्रिका मात्र नहीं है, यह गोडवाड़ की सांस्कृतिक, ऐतिहासिक, धार्मिक संवाहक अग्रदूत भी है। इस साहित्य प्रबोधन अभियान में आपका सहभाग अभीष्ट है। कृपया इस विरासत से जुडे़ एवं औरों को भी जोड़े।

शुभाकांक्षी
डॉ. भंवरसिंह राठौड़
प्रधान सम्पादक (‘गोडवाड़ विरासत’)

 

आपको हमारी संस्था का कार्य कैसा लगा ?






 

  • गोडवाड़ विरासत (सांस्कृतिक, ऐतिहासिक हिन्दी मासिक पत्रिका)

    picture1
    stars1सांस्कृतिक, ऐतिहासिक, धार्मिक कलैण्डर सत्र 2015

    कैलेंडर 2015

    Per Copy: Rs.100/-
  • ऐतिहासिक हिन्दी मासिक पत्रिका (जुन 2014)

    stars1
    गोडवाड़ विरासत (सांस्कृतिक, ऐतिहासिक हिन्दी मासिक पत्रिका)

    गोडवाड़ को जानो

    Per copy: Rs.100/-

  • गोडवाड़ विरासत हिन्दी मासिक पत्रिका जुलाई-अगस्त 2013

    picture3
    stars1
    गोडवाड़ विरासत (सांस्कृतिक, ऐतिहासिक हिन्दी मासिक पत्रिका)
    जुलाई-अगस्त 2013

    Per copy: Rs. 150/-

Who's Online

We have 1 guest online

News & Events

  • गोडवाड़ क्षैत्र के 246 ग्रामों का ऐतिहासिक सर्वक्षण, सन् 1800 तक के षिलालेख, पांडुलिपियाँ खोज, ऐतिहासिक स्मारक, मंदिर, गढ़, परकोटे, बावडियाँ, तालाब, मुर्तियाँ, ताम्रपत्र, रणक्षैत्र, लिपियाँ, अभिलेख का संकलन एवं प्रकाशन

    Tuesday, 17 February 2015 17:32
  • लेखन साहित्य-कला, धरोहर, सांस्कृतिक स्थल, षिल्प, वास्तु, म्युरल, प्रकाषन, हिन्दु-जैन व शोध लेखन का ऐतिहासिक सर्वेक्षण

    Tuesday, 17 February 2015 17:34
  • गोडवाड़ का प्रसिद्ध मंदिर निम्बो का नाथ इतिहास परख षोध वि.सं. 1637 से (महाराणा उदयसिंह) के वंषजों का इतिहास प्रकाषन हेतु मुद्रणालय में।

    Tuesday, 17 February 2015 17:35
  • गोडवाड़ ऐतिहासिक मंच द्वारा अनेक राजस्थानी भाशा विकास हेतु ऐति. लेखन, साहित्यकारों का सम्मान, जीवनी, उनके प्रेरक प्रसंग लिपिबद्ध प्रकाषन की ओर।

    Tuesday, 17 February 2015 17:35
  • आदिवासी व जन-जाति पर, गिरासियां, भील, मीणा, गाड़ोलिया, व रेबारी समाज पर प्रस्तावित सर्वे एवं लेखन कार्य

    Tuesday, 17 February 2015 17:37
  • • ‘गोडवाड़ का जानो’ सामान्य ज्ञान परीक्षा सत्र 2014 कक्षा तृतीय से महाविद्यालय स्तर तक का आयोजन।

    Sunday, 22 February 2015 13:32
  • • राजस्थान साहित्य एवं संस्कृति अकादमी बीकानेर द्वारा राजस्थानी रचना पाठ संगोष्ठी एवं जनकवियों का सादड़ी में आयोजन।

    Sunday, 22 February 2015 13:34
  • • महाराणा प्रताप का जन्म स्थान एवं गोडवाड़ में उनकी देन महाराणा प्रताप के वंशज गोडवाड़ क्षेत्र में विशेष संस्करण का प्रकाशन।

    Sunday, 22 February 2015 13:35
  • गोडवाड़ ऐतिहासिक मंच द्वारा अनेक राजस्थानी भाषा विकास हेतु ऐति. लेखन, साहित्यकारों का सम्मान, जीवनी, उनके प्रेरक प्रसंग लिपिबद्ध प्रकाशन की ओर।

    Sunday, 22 February 2015 13:35
  • आदिवासी व जन-जाति पर, गिरासियां, भील, मीणा, गाड़ोलिया, व रेबारी समाज पर प्रस्तावित सर्वे एवं लेखन कार्य,

    Sunday, 22 February 2015 13:36
  • राणा प्रताप की जन्म-स्थली-पाली-कुडंली एक खोज

    Sunday, 22 February 2015 13:36
  • जागृति जोत, साहित्य अकादमी, पत्रिका, दैनिक, पाक्षिक, एवं मासिक पत्र-पत्रिकाओं में सर्वे एवं लेखन कार्य,

    Sunday, 22 February 2015 13:37
  • मुम्बई (महाराष्ट्र) दैनिक, प्रातःकाल में गोडवाड़, गाथा, मई 2008 से लगातार प्रकाशन

    Sunday, 22 February 2015 13:37

गोडवाड़ विरासत (सांस्कृतिक, ऐतिहासिक हिन्दी मासिक पत्रिका)

image1
हिन्दी मासिक
image1
हिन्दी मासिक
image1
हिन्दी मासिक
image1
हिन्दी मासिक
image1
हिन्दी मासिक
image1
हिन्दी मासिक
image1
हिन्दी मासिक
image1
हिन्दी मासिक
image1
हिन्दी मासिक
image1
हिन्दी मासिक
image1
हिन्दी मासिक
image1
हिन्दी मासिक

ऐतिहासिक हिन्दी मासिक पत्रिका

1970 ई. से गोडवाड़ विरासत ने अपनी मातृभूमि गोडवाड़ के सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक का वारिस गोडवाड़ के लिए तत्परता निभाई। अब इसे नियमित रूप से मासिक प्रकाशन करते हुए देश के कोने-कोने में बस रहे गोडवाड़ मारवाड़ के महानुभावों तक इस पत्रिका को पहुंचाया जा रहा है।

गोडवाड़ - धार्मिक पर्यटन का पथ

गोडवाड़ प्रदेश में इतने अधिक तीर्थस्थल है ऐसा लगता है जैसे सभी देवताओं का आर्शीवाद इस भू-भाग को ही प्राप्त है। धन्य हैं यहां के वाशिंदे जहाँ प्रकृति ने अपना सम्पूर्ण प्रेम न्यौछावर कर दिया और देवता भी इस पवित्र धरती का गुणगान करते है और इस धरती पर जन्म लेने के लिए लालायित हैं।

Photos of Godwad Virasat

image1
Lorem ipsum dolor sit amet
image1
Lorem ipsum dolor sit amet
image1
Lorem ipsum dolor sit amet
image1
Lorem ipsum dolor sit amet

सम्पर्क करें

गोडवाड़ विरासत

हनुमान कालोनी, राणकपुर रोड़, सादड़ी 
तहसील-देसूरी, जिला-पाली (राज.) 306702
फोन - 02934-285135,
मो.- 9928999157, 8104747425, 9636580669

Email- info@godwadvirasat.org
Web: www.godwadvirasat.org

S5 Box